उसने मेरे सवाल का जवाब लिखा दे। जवाब में उसने इनकार भी लिखा है। बिखरी हुई सियाही बयान करती है। उसने आँखों से इकरार भी लिखा है। उसने अपने दिल की कहानी लिखी है। अपनी मोहब्बत का वास्ता भी लिखा है। ये भी लिखा है मेरे घर ना आना। साफ लफ्जो में घर का रास्ता भी लिखा है।
उसने मेरी हर भूल की माफी लिखी है। साथ ही अपनी शिकायत भी लिखी है। दिल से याद करने का शुक्रिया लिखा है। उसको भुला देने की हिदायत भी लिखी है। अपने-अपने दिल में बसी चाहत लिखी है। दरमियां कितनी है दूरियां भी लिखी है। उसने मेरा होने की ख्वाहिश लिखी है। साथ ही अपनी मजबूरियां भी लिखी हैं।
उसने साथ गुजारे उस हसीन पल की। मीठी मीठी यादें भी लिखी है। जो चाह कर भी दोनों निभा ना पाए। उसने किए वो वादे भी लिखे हैं। क्या कहें उसको जो भी लिखा है। क्या खूब उसने लिखा है। हमको अंजाना भी लिखा है। जान-ए-जाना भी लिखा है।

ー Priyank Sharma.